गर्भावस्था में पानी की कमी के लक्षण | प्रेगनेंसी में पानी की कमी होना: Pregnancy Mein Pani Ki Kami

क्या आप एक गर्भवती महिला हैं तो आपको गर्भावस्था के दौरान पानी की‌ कमी का विशेष ध्यान रखना चाहिए। जी हां, प्रेगनेंसी में पानी की कमी से बहुत सारी बीमारियां होने लगती हैं।

अतः आपको गर्भावस्था में पानी की कमी को अच्छे से समझना चाहिए एवं इसको पूरा करना चाहिए।

यहाँ हम आपको Pregnancy में पानी की कमी से जुड़ी बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर रहे हैं।

अतः यदि आप भी एक गर्भवती महिला हैं तो यहाँ दी गयी जारी को ध्यानपूर्वक पढें। यह आपके बहुत ज्यादा उपयोगी है।

इन्हें भी देखें-

गर्भावस्था में पानी की कमी / Pregnancy Mein Pani Ki Kami

आमतौर पर जब भी कोई महिला अपने गर्भावस्था की स्थिति में होती है तो उसके शरीर में बहुत प्रकार के बदलाव होते हैं। ऐसे में एक गर्भवती महिला यानी Pregnant महिला को गर्भावस्था के दौरान अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए.

यदि महिला अपने शरीर को पर्याप्त पानी नहीं देती है तो इसके कारण बहुत सारी समस्याएं हो सकती हैं।

अतः हर एक प्रेग्नेंट महिला को चाहिए कि वह प्रेगनेंसी के दौरान पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करें। यदि आप प्रेगनेंसी की अवस्था में हैं और आपके शरीर में पानी की कमी है तो आपको इसके लक्षण सीधे ही दिखने लग जाते हैं।

इसके कारण आपको बहुत सारी समस्याएं झेलनी पड़ सकती हैं। इसका असर न केवल आप पर बल्कि आपके होने वाले बच्चे पर भी पड़ता है।

आगे हम आपको गर्भावस्था में पानी की कमी से संबंधित बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं। यहां बताई गई हर एक जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

इन्हें भी देखें- 👇

गर्भावस्था में पानी की कमी के लक्षण / Pregnancy Mein Pani Ki Kami

प्रेगनेंसी के दौरान जब कोई महिला पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पीती है तो इसके कारण डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है जो कि एक बहुत बड़ी प्रॉब्लम बनती है।

यदि आपको लगता है कि आपके शरीर में पानी की कमी है या आपको कुछ निम्न प्रकार के लक्षण महसूस होते हैं तो आपको उचित मात्रा में पानी पीना चाहिए।

  • प्यास लगना
  • चक्कर व बेहोशी
  • थकान होना
  • सिर दर्द होना
  • कब्ज़ होना
  • पेशाब में दुर्गन्ध
  • आँखे धसना
  • चिड़चिड़ापन होना
  • होंठ फटना
  • उल्टी होना

यदि आपको उपरोक्त लक्षण दिखते हैं तो गर्भावस्था के दौरान आपको यह समझना चाहिए कि आपके शरीर में पानी की कमी है। ऐसे में आपको पानी की पूर्ति के लिए रसदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए एवं अच्छा भोजन लेना चाहिए।

इसके अलावा आप फलों का जूस एवं फलों का भी सेवन करें। जिस किसी रूप में भी आप पानी पर्याप्त मात्रा में पूर्ण करें।

गर्भावस्था में प्रेगनेंसी में पानी की कमी एक बहुत आम समस्या है। आजकल लोग इस बात का ध्यान नहीं रखते हैं।

इन्हें भी देखें- 👇

गर्भावस्था में पानी की कमी क्यों होती है? Pregnancy Me Pani Ki Kami Kyo Hoti Hai

वैसे तो Already गर्भावस्था में पानी की कमी क्यों होती है- इस सवाल सीधा जवाब है कि शरीर में पर्याप्त मात्रा में पानी न होना। आप दिन भर कम मात्रा में पानी पीते हैं। प्रेगनेंसी में पानी की कमी होने के कुछ विशेष कारण निम्नलिखित हैं।

इलेक्ट्रोलाइट्स कमी

जब भी कोई महिला प्रेगनेंसी की अवस्था में जाती है तो लगभग 14 में अथवा 16 सप्ताह के भीतर Morning Sickness की समस्या देखने को मिल सकती है।

ऐसे में पानी की मात्रा ज्यादा होनी चाहिए. यानी एक प्रेग्नेंट महिला को उचित मात्रा में पानी पीना चाहिए।

मॉर्निंग सिकनेस

जब भी किसी महिला को प्रेगनेंसी के दौरान Morning Sickness का अनुभव होता है तो ऐसे में अपने आप ही पता चल जाता है कि पानी की कमी हो रही है.

निर्जलीकरण का अनुभव सा होता है यानी बार-बार प्यास लगती है. यह भी गर्भावस्था में पानी की कमी का एक विशेष लक्षण एवं कारण है।

हार्मोनल बदलाव

गर्भवती महिला के शरीर में गर्भावस्था प्राप्त होने पर तरह-तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। ऐसे बदलाव में गर्भवती महिला को चाहिए कि वह Sufficient मात्रा में पानी पिए।

व्यायाम के कारण

यदि आप एक Pregnant Lady हैं और प्रेगनेंसी के दौरान Exercise या व्यायाम Yoga करती हैं तो इसकी वजह से भी आपको शरीर में पानी की कमी महसूस हो सकती है. जायज है कि ऐसे में आपको 3 लीटर से लेकर 4 लीटर तक पानी रोजाना पीना चाहिए।

घरेलू कामकाज

यदि आपकी Physical Body कमजोर है और आप ज्यादा घरेलू कामकाज करती हैं तो ऐसे में आपको पानी की कमी महसूस हो सकती है. खासकर गर्भावस्था के दौरान तो आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

गर्भावस्था में पानी की कमी से होने वाले रोग

वैसे तो गर्भावस्था में प्रेगनेंसी में पानी की कमी से एक नहीं बल्कि कई रोग होने की संभावना है लेकिन फिर भी यदि आप एक प्रेग्नेंट महिला हैं तो प्रेगनेंसी के दौरान आपको गर्भावस्था में पानी की कमी से निम्न रोग सकते हैं।

गर्भनाल सूखना

प्रेगनेंसी के दौरान पानी की कमी से आपके शरीर पर तो इसका बुरा असर पड़ता ही है लेकिन विशेष रूप से आपके शिशु के लिए यह नुकसानदायक होता है।

गर्भनाल पर इसका सीधा सीधा प्रभाव पड़ता है। गर्भनाल आपके पेट में पल रहे बच्चे को पोषक तत्व प्रदान करती है।

लेकिन जब आप भरपूर पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पीते हैं तो ऐसे में शिशु का शरीर अच्छे से विकसित नहीं हो पाता है। यह सिकुड़ने लगता है।

पेशाब संबंधित विकार

यदि गर्भावस्था में गर्भवती महिला कम मात्रा में पानी पीती है तो उसका पेशाब पर भी असर पड़ता है। इससे संबंधित किसी भी प्रकार का रोग हो सकता है।

इन्हें भी देखें- 👇

गर्भावस्था में पानी की कमी को दूर कैसे करें?उपाय / Remedies For Dehydration During Pregnancy

इस बात को आप समझ सकते हैं कि प्रेगनेंसी की अवस्था में आपको विभिन्न प्रकार से पानी की कमी को पूरा करना चाहिए।

आप चाहें तो फलों का सेवन करें। सब्जियों का सेवन करें। विभिन्न प्रकार की दाल को अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं। निम्न बातों का विशेष रूप से ध्यान रखें।

  • प्रेगनेंसी में रोज कम से कम 3 से 4 लीटर पानी जरूर पिएं।
  • ज्यादा पानी पीना यदि अच्छा नहीं लगता हो तो पानी में
  • नींबू डालकर नींबू पानी का सेवन कर सकते हैं।
  • प्रेगनेंसी में नारियल पानी पीना भी बहुत लाभदायक माना जाता है।
  • पौष्टिक एवं स्वास्थ्य तथा आरोग्य वर्धक खानपान पर ध्यान दें।
  • अत्यधिक व्यायाम, शारीरिक योग Exercise से बचें।
  • गर्भावस्था में कैफीन की मात्रा कम ही लें। सोडा पीने से भी आपको बचना चाहिए।
  • गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान रात्रि में करवटें बदल कर सोना चाहिए। इससे शरीर में अवस्थित जल की मात्रा पेट में पल रहे शिशु को पर्याप्त रूप से आपूर्त करती है।

प्रेगनेंसी में पानी की मात्रा कितनी होनी चाहिए?

गर्भवती महिला को 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए?
प्रेगनेंसी के दौरान महिला को हाइड्रेट रहना बहुत ज्यादा जरूरी है। ऐसे में कम से कम 1 दिन में 7 से लेकर 8 गिलास पानी पीना जरूरी है।

दूसरे शब्दों में कहें तो 2 लीटर से लेकर 3 लीटर पानी पीना अत्यंत आवश्यक है। यह आपके पेट में पल रहे शिशु एवं आपके लिए भी अत्यंत लाभदायक होता है।

गर्भ में पानी कम होने से क्या होता है?

यदि आप एक प्रेग्नेंट महिला है तो आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान पानी का सेवन पर्याप्त मात्रा में होना आपके लिए बहुत ज्यादा जरूरी है। यदि गर्भ में पानी की कमी होती है तो आपके पेट में पल रहे Baby के लिए भी यह नुकसानदायक होता है।

विशेष रुप से गर्भावस्था के दौरान शरीर को भरपूर मात्रा में Energy प्रदान करने के लिए एवं बच्चे को स्वस्थ एवं सुडौल बनाने के लिए पानी की पर्याप्त मात्रा बहुत जरूरी है. कम पानी की वजह से विभिन्न प्रकार के रोग हो सकते हैं.

विशेष रुप से यह आपके ब्लड को प्रभावित करता है। गर्भावस्था में हर एक महिला शारीरिक एवं आंतरिक रुप से अपवित्र स्थिति में होती है।

ऐसे में भरपूर मात्रा में पानी के सेवन से Body का temperature सही रहता है. पूरे शरीर के आंतरिक हिस्से की अच्छे से सफाई होती है जो आप दोनों के लिए अच्छे परिणाम देने वाला होता है।

इन्हें भी देखें-

क्या प्रेगनेंसी में ज्यादा पानी पीने की जरूरत है?

गर्भावस्था में ज्यादा पानी पीना भी आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। यदि आप बहुत ज्यादा मात्रा में पानी पीते हैं तो यह बहुत ही ज्यादा हानिकारक हो सकता है।

आपकी पित्त की थैली को प्रभावित कर सकता है, जिसकी वजह से heart Pain, पेट दर्द एवं गुप्त विकार जैसी समस्याएं हो सकती हैं. अतः ज्यादा पानी पीने से भी आपको परहेज करना चाहिए।

प्रिय महिला मित्रों, आज के इस आर्टिकल में भारत की नम्बर वन हिंदी हेल्थ वेबसाइट Healthneed.in पर गर्भावस्था में पानी की कमी यानि pregnancy mein pani ki kami,
प्रेगनेंसी में अगर पानी की कमी हो जाए तो क्या करें?, गर्भवती होने पर पर्याप्त पानी नहीं पीने के क्या प्रभाव होते हैं?

अर्थात् Remedies For Dehydration During Pregnancy प्रेगनेंसी में पानी की कमी से सम्बंधित विभिन्न प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की गयी।

यदि आपके मन में किसी भी प्रकार का सवाल हो तो आप नीचे कमेंट में पूछ सकते हैं। हमें आपका जवाब देने में खुशी होगी। प्रेगनेंसी से जुड़ी अन्य किसी भी प्रकार की जानकारी या सहायता के लिए आप इस वेबसाइट के मेनू सेक्शन में जा सकते हैं।

 

Youtube Channel Image
Earn Money घर बैठे पैसे कमाएं
    Click Here